Shayari Mohabbat Wala। शायरी मोहब्बत वाला। Mohabbat Wala shayari।

Shayari Mohabbat Wala

 

यहां, हम Shayari Mohabbat Wala हिंदी में का सबसे अच्छा संग्रह प्रस्तुत कर रहे हैं।  आप इन शायरी को अपनी फेसबुक और व्हाट्सएप ग्रुप्स पर प्यार भरी शायरी शेयर कर सकते हैं।  अपनी भावनाओं और प्यार को व्यक्त करें और Shayari Mohabbat Wala की खूबसूरत दो पंक्तियों को प्यार से भेजें जिसे आप प्यार करते हैं।

लिख कर तुम्हारा नाम हम पन्नों पर, 
 बडे इतमिनान से उसे फिर मोहब्बत पढ़ते हैं…!
 
Shayari Mohabbat Wala
Shayari Mohabbat Wala
 

तुम्हारी हर अदा अब मोहब्बत सी लगती है,
एक पल की जुदाई मुद्दत सी लगती है…!
 जिंदगी में तो अब हरपल तेरी जरुरत लगती है!!!

 


तेरी मोहब्बत में तो अजब सा नशा है, 
तभी तो हम तुमपे फ़िदा है…!

 


वो इश्क़ ही क्या जिसमे हिसाब हो, मोहब्बत तो हमेशा बेहिसाब होती है…!

 


तजुर्बा कहता है, कि मोहब्बत से किनारा कर लूं,
 और दिल यह कहता है कि तजुर्बा दोबारा कर लूँ…!

 


सिर्फ एक ही मोहब्बत की रौशनी  बाकी है,
वर्ना जिस तरफ देखो दूर तक अँधेरा है…!

 


क्या फ़र्क है दोस्ती और मोहब्बत में,
 रहते तो दोनों दिल में ही..!
 बरसों बाद मिलने पर दोस्ती सीने से लगा लेती है,
 और मोहब्बत नज़र चुरा लेती है…!

 


बहते अश्कों की ज़ुबान नहीं होती,
लफ़्ज़ों में मोहब्बत बयां नही होती…!
 मिले जो प्यार तो कदर करना,
 किस्मत हर किसी पर मेहरबां नहीं होती…!

 


एक रस्म मोहब्बत में भी बनानी होगी,
 छोड़ के जाए कोई भी शौक से मगर वज़ह एक दूसरे को बतानी होगी…!

 


क्यू करते हो, तुम मुझसे इतनी खामोश मोहब्बत, 
लोग समझते हैं, कि इस बदनसीब का कोई नही…!

 


चुपचाप गुज़ार देगें तेरे बिना भी ये ज़िन्दगी,
 लोगो को सीखा देगें कि मोहब्बत ऐसे भी होती है…!

 


तेरी मोहब्बत से लेकर तेरे अलविदा कहने तक,
मैंने तो सिर्फ तुझे ही चाहा है, तेरे सिवा कुछ नहीं चाहा…!

 


आ छोडकर इस जंहा को हमदोनो कही दूर चले, 
मोहब्बत से हमारी वंहा कोई ना जले…!

 


हम तो उम्मीदों की दुनियां बसाते रहे,
 वो भी पल पल हमें आजमाते रहे…!
 जब मुझे मोहब्बत में मरने का वक्त आया,
हम मर गए और वो मुस्कुराते रहे…!

 


चलो अपनी चाहतें अब नीलाम करते हैं,
मोहब्बत का सौदा सारे आम करते है…!
तुम अपना साथ हमारे नाम कर दो,
हम अपनी ज़िन्दगी अब तुम्हारे नाम करते हैं…!

 


इस मोहब्बत की किताब के दो ही सबक याद हुए,
 कुछ तुम जैसे आबाद हुए और कुछ हम जैसे बर्बाद हुए…!

 


तुम तो मोहब्बत के सौदे भी अजीब करते हो, 
बस मुस्कुरा के अपना बना लेते हो…!

 


दिल में एक उम्मीद बरकरार रखी हैं,
ऐ दोस्तों…. कही हमनें पढ़ लिया था कि सच्ची मोहब्बत लौटकर आती है…!

 

Shayari Mohabbat Wala
Shayari Mohabbat Wala

मेरी हालत देखकर तो मोहब्बत भी शर्मिदा है, 
ये शख्स जो सब कुछ गवां चूका वो आज भी जिंदा है…!

 


ये मेहताब चेहरा, ये मखमूर आँखें कहीं उसमें होश मेरा न खो जाए,
न देखूं तो न चैन मिले, और देखूं तो मोहब्बत हो जाए…!

 


छोङ दो तन्हाई में मुझको यारों,
 मेरे साथ रहकर क्या पाओगे…?
अगर हो गयी आपको मुझसे मोहब्बत,
कभी मेरी तरह तुम भी पछताओगे…!

 


बहुत खूब सूरत है आंखें तुम्हारी,
 इन्हें बना दो अब किस्मत हमारी…!
 हमें नहीं चाहिये ज़माने की खुशियाँ सारी,
अगर मिल जाय यह मोहब्बत तुम्हारी…!

 

Shayari Mohabbat Wala
Shayari Mohabbat Wala

 


अगर आपको Shayari Mohabbat Wala पढ़कर जरा सा भी दिल पर आया है, तो इसे social media पर जरूर sare करें।   और अगर इस शायरी से आपका कुछ भी सवाल हो तो मुझे comment जरूर करें।

 

!!!धन्यवाद दोस्तों!!!

Leave a Reply

Your email address will not be published.