मोहब्बत शायरी । Mohabbat shayari in Hindi । Romantic love shayari । Love shayari in hindi ।

 

Pyar  wali shayari

हम तुमको कितना चाहता हूं, वो मैं कह नहीं पायेंगे।
हम इतना जानते हैं कि अब तेरे बिन रह नहीं पायेंगे।।

 

Ham tumko Kitna chahte hu, vo Mai kah nahi payege.
Ham itana jante hai ki ab tere bin rah nahi payege…

जिंदगी बहुत सुंदर है पर जीना नहीं आता,
सब में नशा है पर पीना नहीं आता।
जी सकता हूं तेरे बगैर लेकिन
तेरे बिना मुझे जीना ही नहीं आता।।

Jindagi bahut sundar hai par jina nahi aata,
Sab me Nasha hai par Pina nahi aata.
Ki sakta hu tere bager lekin
Tere bina mujhe jina hi nahi aata…

बहुत मुश्किल से पाया हूं तुझे,
किस्मत से छीनकर लाया हूं तुझे।
कैसे जाने दे दू तुझे अपने से दूर,
ख्वाबों से हकीकत में बनाया हूं तुझे।।

 

Bahut mushkil se paya hu tujhe,
Kismat se chhinkar laya hu tujhe.
Kaise Jane de du tujhe apne se dur,
Khvabo se hakikat me banaya hu tujhe…

Click करे :- दिल को छु जाने वाली शायरी  को भी पढ़ेेंं।

मुझे पता नहीं था कि प्यार होता है क्या,
जब तेरी नजर से नजर मिली ओर मुझे प्यार हो गया।

Mujhe pata nahi tha ki pyar hota hai Kya,
Jab mujhe najar se najar Mili or mujhe pyar ho gaya.

सब कहते है इंसान में भगवान होता हैं,
लेकिन वो इंसान कहां होता हैं।
जब कोई प्यार करे तो
सब प्यार का ही दुश्मन होता हैं।।

Sab kahte hai insane me bhagvan hota hai,
Lekin vo inshan  kaha hota hai.
Jab koi pyar kare to
Sab pyar ka hi dusman hota hai…

कभी समय मिले तो आना इस दिल के आंगन में,
तुम हैरान रह जाओगे कुछ इस तरह मुकाम देखकर।

Kabhi samay mile to aana is dil ke aangan me,
Tum heran rah jaoge kuchh is tarah mukam dekhakar.

दिल के किसी भी कोने में जगह नहीं है
जहां तेरी तस्वीर ना लगा हो।

 

Dil ke kisi bhi  kone me jagah nahi hai
Jah teri tasvir na laga ho.

तेरे निगाहों में बहुत मरना चाहा,
लेकिन तुम निगाह झुकाकर मुझे मरने ही नहीं देती।

Tere bigaho me bahut marna chaha,
Lekin tum nigah jhukakar mujhe marne hi nahi deti.

गुजर रही हैं जिंदगी बड़ी ही शौर से,
अब मिलती नहीं खुशी तेरे सिवा किसी ओर से।

Gujar rahi hai jindagi badi hi shor se,
Ab milti nahi khushi tere siva kisi or se.

प्यार भी क्या चीज होती है यार,
दिल से शुरू ओर दिमाग में खत्म हो जाती हैं।

Pyar bhi kya chij hoti hai yaro,
Dil se shuru or dimag me khatm ho jati hai.

माना कि हम गुस्सा बहुत करते हैं,
लेकिन प्यार भी उतना ही करते है।

 

Mana ki ham gussa bahut karte hai,
Lekin pyar bhi utna hi karte hai.

Thanks!

Leave a Reply

Your email address will not be published.