Mohabbat Bhari Shayari। मोहब्बत भरी शायरी। Mohabbat ka shayari।

Mohabbat Bhari Shayari


ना छुपाना कोई भी बात दिल में जो हो, 
रखना थोड़ा भरोसा हम पर…! 
हम निभाएंगे यह रिश्ता इस कदर की, 
भूलाने पर भी ना भुला पाओगे जिंदगी भर…!

 

Na Chupana Koi bhi Baat DiL Main jo Ho, 
Rakhna Thorra Bharosa Hum Par…!
Hum Nibhaye Ge yah Rishta Iss Qadar,
 Ke Bhulane Par Bhi Na Bhula Paoge Zindagi Bhar…!

 


 

मुझे और कुछ नहीं चाहिए एक मुस्कान ही काफी है,
दिल में बस एक तेरी तमन्ना ही काफी है…!
तमन्ना है यह कि आप सदा खुश रहो,
हमें याद रखना यह एहसान ही काफी है…!

 

Mujhe Aur kuch nahi chahiye ek muskan hi kafi hai,
dil main bas ek teri Tamanna hi kafi hai…!
Tamanna hai yah ki aap sada kush raho,
hamen yaad rakhna ye ehsaan hi kafi hai…!

 


 

आपसे दूर भला हम कैसे रह पाते,
दिल से आपको कैसे भुला पाते…!
काश कि आप सांसो के अलावा आईने में बसे होते, 
खुद को देखते तो आप ही नजर आते हैं…!

 

Aapse Dur Bhala Hum Kaise Reh Paate, 
Dilse Aapko Kaise Bhula Paate…!
Kaash Ki Aap Saanso Ke Alava Aaine Me Base Hote, 
Khud Ko Dekhte To Aap Hi Nazar Aate…!

 


 

सभी नगमे साथ में गाये नहीं जाते, 
सभी लोग महफिल में बूलाए नहीं जाते…!
कुछ खास रहकर भी याद नहीं आते,
कुछ दूर रहकर भी भुलाए नहीं जाते…!

 

Sabhi nagme saaz mein gaye nahi jaate, 
sabhi log mehfil mein bulaaye nahi jaate…! 
kuch paas reh kar bhi yaad nahi aate, 
kuch dur reh kar bhi bhoolaye nahi jaate…!

 


 

दिल से दिल की दूरी नहीं होती है,
कास कोई मजबूरी नहीं होती…!
आपसे अभी मिलने की तमन्ना है,
लेकिन हर तमन्ना पूरी नहीं होती…!

 

Dil se dil ki doori nahi hoti,
Kash koi majburi nahi hoti…!
apse abi milne ki tamanna hai,
Lekin har tamanna puri nahi hoti…!

 


 

एक अदा आपके दिल चुराने की है,
एक अदा आपके दिल में बस जाने की है…!
चेहरा आपका चांद हो, 
और मेरी जिद चांद को पाने की हो…!

 

Ek adaa aapke dil churane ki hai,
Ek adaa aapke dil main bus jane ki hai…!
Chehra aap ka chand ho,
Or  meri Zid chand ko pane ki ho…!

 


 

बहती आंखों की जवा नहीं होती है,
लफ्जों में मोहब्बत बयां नहीं होती हैं…!
मिले जब प्यार तो कदर करना, 
किस्मत हर किसी पर मेहरबान नहीं होती…!

 

Behtay Ashkon ki zaban nahi hoti,
Lafzon me mohabat bayan nahi hoti…!
milay jab pyar to kadar kerna,
kismat har kisi per meharban nahi hoti…!

 


यहां और शायरी पढ़ें:-

इश्क और प्यार का शायरी

 Mohabbat Shayari

रुलाना हर किसी को भी आता है,
हंसाना हर किसी को भी आता है…! 
रूला के जो मना ले वही सच्चा यार है, 
और जो रूला के खुद ही रो ले वो सच्चा प्यार हैं…!
Mohabbat Bhari Shayari
Mohabbat Bhari Shayari

 

Rulana Har Kisi Ko bhi Ata Hai,
Hasana Har Kisi Ko bhi Ata Hai…!
Rula Ke Jo Mana Le Wahi Sacha Yar HaI,
Or Jo Rula K Khud bhi ro le ” Wo Sacha Pyar Hai “…!

 


 

खामोश मोहब्बत का एहसास है,
मेरे ख्वाहिश मेरे जज्बात है…!
अक्सर यह ख्याल क्यों आते हैं दिल में,
मेरी पहली और आखिरी तलाश तुम है…!

 

Khamosh muhabbat ka ehsaas hai, 
mere khwahish mere jajbat hai…! 
aksar yah khyal kyo aata hai dil mai,
meri pahli khoj or aakhiri talash hai…!

 


 

 दिल के आवाज़ को तो इज़हार कहते हैं,
झुकी निगाहों को इकरार कहते हैं…!
सिर्फ पाने का नाम इश्क नहीं होता,
कुछ खोने को भी प्यार कहते हैं…!

 

Dil ki aawaz ko izhaar kehte hain,
jhuki nigah ko iqrar kehte hain…!
sirf paane ka naam ishq nahin hota,
kuch khone ko bhi pyar kehate hain…!

 


 

चाहतों ने किया मुझ पर ऐसा वार, 
जहां देखूं मैं देखूं तुझे हमसफर…!
मेरी खामोशियों भी जवां बन गई,
मेरी बेचैनी दास्तां बन गई…!

 

chahaton ne kiya mujh pe aisa asar,
jahan dekhon mein dhekon tujhe humsafar…!
meri khamoshiyan bhi zabaan ban gaein,
meri becheniyan daastaan ban gaein…!

 


 

मिलने की खुशी है या बिछड़ने का गम,
आंखों में आंसू है या उदास है हम…!
कैसे कहे की कैसे हैं हम, 
बस इतना समझ लेना कि तुम अकेले है हम…!

 

Milane ki khushi hai ya bichhadane ka gam, 
Ankhon mein aansu hai ya udas hai ham…!
Kaise kahain k kaisey hain ham,
Bas itna samaj lena k tum bin akele hai ham…!

 


 

Mohabbat Shayari Hindi

 

यह सफर दोस्ती का कभी खत्म ना होगा,
दोस्तों से प्यार कभी कम ना होगा…!
दूर रहकर भी अगर होती रहे बातें तो,
हमें कभी भी बिछडने का गम ना होगा…!

 

ye safar dosti ka kabhi khatam na hoga.
 doston se pyar kabhi kum na hoga…!
 door reh kar b agar hoti rahe baten to, 
humain kabhi bhi bicharne ka gham na hoga…!

 


 

कभी-कभी ऐसा भी होता है,
दोस्ती का असर ज्यादा देर से होते हैं…!
आपको लगता है हम कुछ नहीं सोचते आपके बारे में,
पर हमारे हर बात में आपका ही जिक्र होता है…!

 

Kabhi kabhi aisa bhi hota hai,
Dosti ka asar zara dair say hota haI…!
Aap ko lagta hai hum kuch nahin sochte ap k bare main,
 Per hamari her baat main aap ka hi ziker hota hai…!

 


अगर यह Mohabbat Bhari Shayari आपको पसंद आया है, तो इसे social media पर sare जरूर करें।
    और अगर इस शायरी के बारे में कुछ सवाल है, तो comment जरूर करें।

 

 धन्यवाद!

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.