gf manane ke liye shayari – प्यार को मनाने वाली शायरी। रूठे हुए को मनाने वाली शायरी। Gf मनाने के लिए शायरी।

 

 gf manane ke liye shayari (प्यार को मनाने वाली शायरी)

ये रुठने मनाने के सिलसिले बड़े ही प्यारे होतेहै तुमसे मिलने परही ये बात जानी हमने

 

—–***—***—***—–

 

“ग़र कटती हें उम्र तुम्हे मनाने मेँ,तो कट जाने दो, वैसे भी बिन तुम्हारे जिंन्दगी भी कंहा जिंदगी हें।।”

 

—–***—***—***—–

 

तुम रूठो तो तुम्हे मनाने आ जाएंगे कई हम रूठे भी तो बताओ किस के भरोसे…..

 

—–***—***—***—–

 

तुम हंसती हो मुझे हसाने के लिए,तुम रोती हो मुझे रुलाने के लिए। एक बार तो रुठ के देखो,मर जाएंगे तुम्हे मनाने के लिए।।

 

—–***—***—***—–

 

सोच रखी है बहुत सी बातें तुम्हे सुनाने के लिए….!!! लेकिन तुम हो के आते ही नही हमे मनाने के लिए….!!!

 

—–***—***—***—–

gf manane ke liye shayari hindi (प्यार को मनाने वाली शायरी Hindi) 

 

कितनी बातें, जो आती आधी रात कहने को तुम्हे… उन् ख्वाबो में जिनमे तू करती बात, मुझे मनाने की… कभी ना छोड़ के जाने की !!

 

—–***—***—***—–

 

आज खुद को भुलाने को जी कर रहा है, बेवजह रूठ जाने को जी कर रहा है, तुम्हे वक़्त शायद मिले न मिले, आज खुद को मनाने को जी कर रहा है।

 

—–***—***—***—– Manane ki Shayari

 

चला ह सिलसिला कैसा ये रातों को मनाने का तुम्हे हक़ दे दिया किसने दियो का दिल दुखने का

 

—–***—***—***—–

 

तरिके तो कई है… तुम्हे अपने पास रखने के… पर मजा तो तब है जब तुम हमें मनाने का हुनर जानो..

 

—–***—***—***—–

 

जब तुम रूठ जाते हो, तो और भी हसीन लगते हो। यही सोचकर तुम्हे मनाने का मन नही करता।

 

—–***—***—***—–

gf manane ke shayari (प्यार को मनाने के लिए वाली शायरी)

 

तुम तरकीब निकालते हो दिल जलाने की,, हम तरकीब निकालते है तुम्हे मनाने की.

 

—–***—***—***—–

 

तुम्हे तो मनाना भी नहीं आता………… रूठू तो……कैसे रूठू……!! मनाने वाले तो…… चाँद ………… को थाली में ले आते हैं…

 

—–***—***—***—–*

 

रूठने का हक़ है तुझे, वजह बताया कर।

ख़फ़ा होना गलत नही, तू खता बताया कर।

 

बिन बात के ही रूठने की आदत है,

किसी अपने की चाहत पाने की चाहत है,

आप खुश रहें, मेरा क्या है,

में तो आईना हूँ मुझे टूटने की आदत है।

 

 

 

Gf Manane ke liye Shayari

 

Gf Manane ki Shayari

 

नया नया शौक उन्हें रूठने का लगता है

 

खुद ही भूल जाते हैं रूठे थे किस बात पर

 

—–***—***—***—–

 

हर घड़ी का ये बिगड़ना नहीं

अच्छा ऐ जान…

रूठने का भी कोई वक़्त मुक़र्रर

हो जाए…

 

—–***—***—***—–

मनाने रुठने के खेल में हम

बिछड़ जाएंगे … सोचा नहीं था

 

—–***—***—***—– 

 

Manane ki Shayari

 

मुद्दतों बाद आज फिर परेशान

हुआ है दिल,

जाने किस हाल में होगा मुझसे

रूठने वाला….

 

—–***—***—***—–

 

वो मेरे रूठने पर इस तरह मनाती है…

कभी तो ज़ी चाहता है बेवजह उससे रूठ जाऊं…!!!

 

—–***—***—***—–

 

नाराज़गी नहीं है कोई … मै किससे

शिकायत करूँ! . . . .

 

ये रूठने मनाने

की रस्म तो अपनों में हुआ करती है!!

 

—–***—***—***—– 

 

gf manane wali shayari (प्यार  मनाने वाली शायरी)

 

रूठने की कोई…….दास्ताँ रही होगी

यकीनन कोई …….. खता रही होगी

तुमने सलाम नहीं लिया होगा उनका

यही तो बात दिल को सता रही होगी

 

—–***—***—***—–

 

बस एक यही आदत तो मेरी खरा़ब है …

रूठने के लिये ना जाने कितने बहाने चाहिये

और मान जाने के लिये …तेरा बोलना ही काफी है …

 

—–***—***—***—–

 

हर बार रिश्तों में और भी मिठास आई है,

जब भी बाद रूठने के तू मेरे पास आई है।

 

—–***—***—***—–

रूठने की उसकी अदा भी अजब है,

बिन कहे करता है शिकायतें गजब है ….

 

—–***—***—***—–

 

उफ़ —उसके रूठने की अदाये भी गजब

की थी…

बात बात पे कहना की ” सोच लो फिर बात

नहीं करुँगी ”

 

—–***—***—***—–

 

ज़माने से रुठने की जरूरत ही क्यों हो

जब मेरे अपने ही मेरे बने रकीब हो

 

—–***—***—***—–

 

सारी उम्र करते रहे इंतज़ार तेरे रुठने का

कभी तो मौका दिया होता तूने मनाने का

 

—–***—***—***—–

 

तुझे खबर भी है इसकी ओ रूठने वाले,

तुम्हारा प्यार ही मेरा कीमती खजाना था

 

—–***—***—***—–

gf manane wali shayari Hindi 

 

तू जो रूठ्ने लगा है

दिल टूटने लगा है

अब सब्र का भी दामन

मुझसे छूटने लगा है

 

—–***—***—***—– 

 

गलती एक करी थी उसने जो हमने सची मानी थी…°

 

हमने जाने को कहा और उसने रुठने की ठानी थी़.

 

—–***—***—***—–

 

हमें तो रूठने का सलीका भी नहीं आता

जाते-जाते खुद को उसके पास ही छोड़ आये ………

 

—–***—***—***—–

 

…रूठनें का लुत्फ़ आया ही नहीं,

आप पहले ही मनाने आ गए…

gf manane wali shayari Hindi main

—–***—***—***—–

 

उन्हें रूठने में वक़्त नहीं लगता

मेरे पास वक़्त नहीं मानाने को …

 

—–***—***—***—–*

 

जंग न लग जाये मोहब्बत को कहीं…

 

रूठने मनाने के सिलसिले जारी रखो..।।

 

—–***—***—***—–

रूठने-मनाने का,

सिलसिला कुछ यू हुआ।

मान गया था मगर,

फिर रूठने का दिल हुआ।।

 

—–***—***—***—–

 

बहाने बनाना कोई उनसे सीखे, बनाकर मिटाना कोई उनसे सीखे,

सबब रूठने का भी होता है लेकिन, यूं ही रूठ जाना कोई उनसे सीखे !

 

—–***—***—***—–

 

Gf के लिए शायरी

रूठी प्रेमिका को मनाने की शायरी

रूठे हुए को मनाने वाली शायरी

रूठे हुए दोस्त को मनाने के लिए शायरी

बीवी को मनाने वाली शायरी

मनाने वाली शायरी इमेज

रूठे हुए को मनाने की शायरी

प्यार को मनाने वाली शायरी

रूठे दोस्त को मनाने की शायरी

रूठे दोस्त को मनाने वाली शायरी

नाराजगी दूर करने वाली शायरी

माफी की शायरी

 

Gf के लिए शायरी

पत्नी को मनाने की शायरी

रूठे हुए दोस्त को मनाने के लिए शायरी

प्यार को मनाने वाली शायरी

रूठे हुए को मनाने वाली शायरी

मनाने वाली शायरी इमेज

बीवी को मनाने वाली शायरी

रूठे हुए को मनाने की शायरी

पति को मनाने के लिए शायरी

रूठे दोस्त को मनाने वाली शायरी

रूठे दोस्त को मनाने की शायरी

नाराजगी दूर करने वाली शायरी

Leave a Reply

Your email address will not be published.