Ishak or vatan shayari। इश्क और वतन शायरी। देश भक्ति शायरी 2020। Desh bhakti shayari download।

 

Ishak or vatan shayari

अनेकता में ही एकता इस देश की शान हैं,
तभी तो मेरा भारत देश महान हैं।
Anekata me hi ekata is desh ki shan hai,
Tabhi to mera bharat desh mahan hai.
अपने में कभी ना नफरत पालो,
दिल से बुरी आदतें निकालो।
न मेरा न तेरा, न इसका न उसका,
ये वतन है सबका इसे संभालो।।
Apne me kabhi na nafrat Palo,
Dil se buri aadaten nikalo.
Na mera na tera, na isaka na usaka,
Ye vatan hai sabaka ise sambhalo…
तीन रंग का ये वस्त्र नहीं,
ये ध्वज भारत की शान हैं।
यहीं है गंगा ओर यहीं है हिमालय,
यहीं हिन्द की जान हैं।
तीन रंगों से रंगा हुआ,
ये अपना हिंदुस्तान हैं।
Tin rang ka ye vastr nahi,
Ye dhvaj bharat ki shan hai.
Yahi hai ganga or yahi hai himalay,
Yahi hind ki jaan hai.
Tin rango se ranga hua,
Ye apna Hindustan hai.
फुलों से नहीं कहेगें हम चमन के लिए,
बंदूकों से नहीं कहेगें हम अमन के लिए।
लेकिन आप लोगों से हम इतना जरूर कहेगें,
कुछ समय निकालो अपने वतन के लिए।।
Phulo se nahi kahege ham chaman ke liye,
Banduko se nahi kahege ham aman ke liye.
Lekin aap logo se ham itana jarur kahege,
Kuchh samay nikalo apne vatan ke liye…
आओ झुककर उन्हें करें हम सलाम,
जिनके हिस्सों में ये मुकाम आता हैं।
कितने खुशनसीब होते हैं वो लोग,
खून जिनका वतन के कम आता हैं।।
Aao jhukakar unhe kare ham salam,
Jinke hisso me ye mukam aata hai.
Kitne khushnashib hote hai vo log,
Khun jinka vatan ke kam aata hai…
अपनी आजादी को हरगिज मिटा नहीं सकते है हम,
सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका नहीं सकते है हम।
Apni aajadi ko hargij mita nahi sakte hai ham,
Sar kata sakate hai lekin sar jhuka nahi sakte hai ham.

 

शान देश की आन देश की
देश की हम संतान हैं,
तीन रंगों से रंगा तिरंगा
ये हम सबकी पहचान हैं।
Shan desh ki aan desh ki
Desh ki ham santan hai,
Tin rango se ranga Tirana
Ye ham sabki pahchan hai.

Read also :- Desh Bhakti Shayari

 

Read also :- Royal Fauji Status

 

Read also :- Indian Army Status


हम सबको आगे बढ़ते जाना हैं,
इस तिरंगे को सबसे ऊंचा लहराना हैं।
Ham sabako aage badhate jana hai,
Is Tirange ki sabse uncha lahrana hai.
बात इन हवाओं को बताए रखना,
रौशनी के लिए चिरागों को जलाए रखना।
लहू देकर भी हिफाजत करेगें हम सब,
इस तिरंगे को हमेशा दिल में बसाए रखना।।
Baat in havao ko bataye rakhana,
Raushani ke liye chirago ko jalaye rakhna.
Lahu dekar bhi hifajat karege ham sab,
Is Tirange ko hamesha dil me basaye rakhana…
मन को खुद में ही मगन कर लो,
कभी – कभी शहीदों को नमन कर लो।
Man ko khud me hi magan kar lo,
Kabhi-kabhi shahido ko naman kar lo.

Isak or vatan Shayari in Hindi

देश के लिए प्यार है, तो जताया करो।
किसी का इन्तजार मत करो।
गर्व से बोलो जय हिन्द,
अभिमान से कहो भारतीय है हम।

Isak shayari in english

desh ke lie pyaar hai, to jataaya karo.
kisee ka intajaar mat karo.
garv se bolo jay hind,
abhimaan se kaho bhaarateey hai ham.

Isak or vatan status 2020 in Hindi

तैरना है तो समंदर में तैरो नालों में क्या रखा हैं,
प्यार करना है, तो देश से करो औरों में क्या रखा हैं।
शम्मा-ए-वतन की लौ पर जब कुर्बान पतंगा हो,
होठों पर गंगा हो और हाथों में तिरंगा हो।
मुझे ना तन चाहिए, ना धन चाहिए,
बस अमन से भरा हुआ यह वतन चाहिए।
जब तक मैं जिन्दा रहूं, इस मातृ-भूमि के लिए,
और जब मरुँ तो मुझे तिरंगा कफ़न चाहिये।

Ishak status 2020 in english

tairana hai to samandar mein tairo naalon mein kya rakha hain,
pyaar karana hai, to desh se karo auron mein kya rakha hain.
shamma-e-vatan kee lau par jab kurbaan patanga ho,
hothon par ganga ho aur haathon mein tiranga ho.
mujhe na tan chaahie, na dhan chaahie,
bas aman se bhara hua yah vatan chaahie.
jab tak main jinda rahoon, is maatr-bhoomi ke lie,
aur jab marun to mujhe tiranga kafan chaahiye.
अगर आपको यह Ishak or vatan shayari ( इश्क और वतन शायरी ) अच्छे लगा हो, तो इसे sare जरूर करें।

 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.