बेस्ट मां – बाप का शायरी । Best maa-bap ka shayari in Hindi ।

हाय दोस्तों,
मैं रामजी आज हम आपके लिए कुछ मां – बाप के लिए शायरी लेकर आए है, जो कुछ लाइन मां – बाप के लिए हैं ।

Maa-bap ka shayari

दुनियां में सभी लोग मिल जायेंगे, लेकिन मां – बाप जैसा नहीं मिलेंगे।
प्यार तो सभी करेगें, लेकिन मां – बाप  जैसा नहीं करेगें।।

 

duniya me sabhi log mil jayege, lekin maa-bap jaisa nahi milege.
pyar to sabhi karege, lekin maa-bap jaisa nahi karege…

मां – बाप का दर्जा तो भगवान से भी ऊंचा होता है।
बिन मां – बाप के कोई दुनियां नहीं देख पाता हैं ।।

maa-bap ka darja to bhagavan se bhi uchcha hota hai.
bin maa-bap ke koi duniya nahi dekh pata hai…

मां – बाप सारे दुःख दर्द सह के अपने बच्चे को खुश रखता हैं ।
लेकिन वहीं बच्चे बड़े होकर मां – बाप को खुश क्यों नहीं रखते हैं।।

maa-bap sare dukh dard sah ke apne bachche ko khush rakhata hai.
lekin vahi bachche bade hokar maa-bap ko khush kyo nahi rakhate hai…

जिसने तुझे हर दर्द सह के तुझे आंच ना आने दिया।
आज तूने उसे अकेले ही छोड़ दिया।।

jisne tujhe har dard sah ke tujhe aanch na aane diya.
Aaj tune use akele hi chhod diya…

दुनियां में तो सभी लोग मिल जाते है।
लेकिन मां – बाप दुबारा नहीं मिलते हैं।।

 

duniya me to sabhi log mil jate hai.
lekin maa-bap dubara nahi milte hai…

अगर मां – बाप का सेवा किया तो समझो स्वर्ग पा लिया।
बिन मां – बाप  के कोई दुनियां नहीं देख पाया।।

agar maa-bap ka seva kiya to samjho svarg pa liya.
bin maa-bap ke koi duniya nahi dekh paya…

जो मां – बाप  धूप में पसीने बहाकर हर शोक पूरा किया।
आज उसी का बेटा अकेले ही मरने छोड़ दिया।।

jo maa-bap dhup me pasine bahakar har sok pura kiya.
aaj usi ka beta akele hi marne chhod diya…

लोग तीर्थ यात्रा करने के लिए चारों – धाम जाते हैं।
लेकिन लोगों को यह पता नहीं कि मां – बाप के चरणों में ही चारों – धाम होते हैं।।

log tirth yatra karne ke liye charo dham jate hai.
lekin logo ko yah pata nahi ki maa-bap ke charno me hi charo dham hote hai…

सारी खुशियां तो मां – बाप के सेवा में मिलते हैं।
ओर लोग कहते हैं मुझे खुशी ही नहीं मिलते हैं।।

sari khushiyan to maa-bap ke seva me milte hai.
or log kahte hai mujhe khushi hi nahi milte hai…

दुनियां में सभी लोग मिल जायेंगे, लेकिन मां – बाप जैसा नहीं मिलेंगे।
प्यार तो सभी करेगें, लेकिन मां – बाप  जैसा नहीं करेगें।।

duniya me sabhi log mil jayege, lekin maa-bap jaisa nahi milege.
pyar to sabhi karege, lekin maa-bap jaisa nahi karege…

मां – बाप का दर्जा तो भगवान से भी ऊंचा होता है।
बिन मां – बाप के कोई दुनियां नहीं देख पाता हैं ।।

maa-bap ka darja to bhagavan se bhi uchcha hota hai.
bin maa-bap ke koi duniya nahi dekh pata hai…

मां – बाप सारे दुःख दर्द सह के अपने बच्चे को खुश रखता हैं ।
लेकिन वहीं बच्चे बड़े होकर मां – बाप को खुश क्यों नहीं रखते हैं।।

maa-bap sare dukh dard sah ke apne bachche ko khush rakhata hai.
lekin vahi bachche bade hokar maa-bap ko khush kyo nahi rakhate hai…

जिसने तुझे हर दर्द सह के तुझे आंच ना आने दिया।
आज तूने उसे अकेले ही छोड़ दिया।।

jisne tujhe har dard sah ke tujhe aanch na aane diya.
Aaj tune use akele hi chhod diya…

दुनियां में तो सभी लोग मिल जाते है।
लेकिन मां – बाप दुबारा नहीं मिलते हैं।।

duniya me to sabhi log mil jate hai.
lekin maa-bap dubara nahi milte hai…

अगर मां – बाप का सेवा किया तो समझो स्वर्ग पा लिया।
बिन मां – बाप  के कोई दुनियां नहीं देख पाया।।

agar maa-bap ka seva kiya to samjho svarg pa liya.
bin maa-bap ke koi duniya nahi dekh paya…

जो मां – बाप  धूप में पसीने बहाकर हर शोक पूरा किया।
आज उसी का बेटा अकेले ही मरने छोड़ दिया।।

jo maa-bap dhup me pasine bahakar har sok pura kiya.
aaj usi ka beta akele hi marne chhod diya…

लोग तीर्थ यात्रा करने के लिए चारों – धाम जाते हैं।
लेकिन लोगों को यह पता नहीं कि मां – बाप के चरणों में ही चारों – धाम होते हैं।।

log tirth yatra karne ke liye charo dham jate hai.
lekin logo ko yah pata nahi ki maa-bap ke charno me hi charo dham hote hai…

सारी खुशियां तो मां – बाप के सेवा में मिलते हैं।
ओर लोग कहते हैं मुझे खुशी ही नहीं मिलते हैं।।

sari khushiyan to maa-bap ke seva me milte hai.
or log kahte hai mujhe khushi hi nahi milte hai…

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.