Attitude Shayari status। Attitude Shayari 2022। एटीट्युड शायरी स्टेटस। एटिट्यूड शायरी 2022।

 

Attitude Shayari status

प्यार, इश्क और मोहब्बत सब धोखेबाजी हैं,
अपनी लाइफ में तो सिर्फ attitude काफी हैं।

Pyar, ishk or mohabbat sab dhokhebaji hai,
Mere Life me to sirf attitude kaphi hai.

हम दुश्मनों को तो बड़ी शानदार सजा देते हैं,
हाथ से नहीं उठाते लेकिन नज़रों से गिरा देते हैं।

Ham dushmano ko to badi shandar saja dete hai,
Hath se nahi uthate lekin najaro se gira dete hai.

सही को सही ओर गलत को गलत कहने की हिम्मत हैं,
इसीलिए मेरे पास इतने रिश्ते कम हैं।

Sahi ko sahi or galat ko galat kahane ki himmat hai,
Isiliye mere paas itane rishte kam hai.

इतना तुम attitude मत दिखा,
जिंदगी में तकदीर बदलती रहती हैं।
शीशा तो वहीं रहता हैं,
लेकिन तस्वीर बदलती रहती हैं।।

Itana tum attitude mat dikha,
Jindagi me takdir badalati rahti hai.
Shisha to vahi rahata hai,
Lekin tasvir badalati rahati hai…

हम नहीं बदलेंगे वक्त की रफ्तार के साथ…..
हम जब भी मिलेंगे मेरा अंदाज पुराना ही होगा…..

Ham nahi badlenge vakt ki raftar ke sath…
Ham jab milenge mera andaj purana hi hoga…

जीते हैं जिंदगी हम शान से…..
तभी तो लोग जलते हैं मेरे नाम से…..

Jite hai jindagi ham shan se…
Tabhi to log jalate hai mere naam se…

लोग भांड में जाए और लोगों की बातें,
हम तो उसी तरह जियेगें जैसे हम जीना चाहते हैं।

Log bhand me jaye or logo ki baten,
Ham to usi tarah jiyenge jaise ham jina chahate hai.

इतना attitude तू मत दिखा जानेमन,
तेरी इस जवानी से ज्यादा तो मेरा तेवर गरम हैं।

Itana attitude tu mat dikha janeman,
Teri is jawani se jyada to mera tevar garam hai.

डरते तो हम नहीं है  किसी के बाप से,
बस बीच में Respect नाम की चीज आ जाती हैं।

Darate to ham nahi hai kisi ke baap se,
Bas bich me Respect naam ki chij aa jati hai.

तेरा रूप भले ही लाखों में एक हैं,
लेकिन मेरा कमीनापन करोड़ों में एक हैं।

Tera rup bhale hi lakho me ek hai,
Lekin mera kaminapan karodo me ek hai.

मैं चीज हूं original,
ओर तू जाली Note हैं।
तेरी Body से ज्यादा तो,
मेरा DP Hot हैं।।

Main chij hu original,
Or tu jali Note hai.
Teri Body se jyada to,
Meri DP Hot hai…

खुशबू बन के हम गुलों में उड़ा करतें हैं,
धुआं बन के हम आसमान में उड़ा करते हैं।
हमें क्या रोकेगें इस जमाने वाले,
हम पैरों से नहीं हम तो हौसलों से उड़ा करते हैं।।

Khushbu ban ke ham gulo me uda karte hai,
Dhuan ban ke ham Aasman me uda karte hai.
Hame kya rokege is jamane wale,
Ham pairo se nahi ham to hausalo se uda karate hai…

दिलों से खेलना तो मुझे भी आता हैं यार,
लेकिन जिस खेल में खिलौना ही टूट जाए,
वो खेल मुझे पसंद नहीं है यार।

Dilo se khelana to mujhe bhi aata hai R,
Lekin jis khel me khilona hi tut jaye,
Vo khel mujhe pasand nahi hai R.

हम पर तो वहीं लोग अक्सर उठाते हैं उंगुलियां,
जिसको मुझे छूने की औकात नहीं हैं…..

Ham par to vahi log aksar uthate hai ungliyan,
Jisako mujhe chhune ki aukat nahi hai…

खुद से मुझे जितने की जिद हैं,
मुझे खुद को ही जितना हैं।
मैं तो भीड़ नहीं हूं दुनियां की,
मेरे अंदर ही एक जमाना हैं।।

Khud se mujhe jitane ki jid hai,
Mujhe khud ko hi jitana hai.
Mai to bhid nahi hu duniyaa ki,
Mere andar hi ek jamana hai…

Leave a Reply

Your email address will not be published.